मेरे बड़े --

Tuesday, December 23, 2014

सबको मेरी पुच्ची

मुझे इतना प्यार देने के लिए सबको दोनों गालों पर एक-एक पुच्ची....
अगले साल के लिए आशीर्वाद दें कि सबके चेहरे पर मुस्कान रख सकूं .. उनसे नई बातें कर सकूँ ...:-D

और आगे सीख सकूं ... नया वर्ष सबको आत्मबल दे ....

Tuesday, December 9, 2014

नाज़ुक पैरों के नाज़ुक जूते

"पैर जमीं पर मत रखना."...
चाहता तो हर कोई है पर ...
.
.
.
.
सर पर रखे भी तो नहीं जाते ...
उठो बेटा!! चल पड़ो
सूरज से टक्कर लेनी है
और अब तो जूते भी हैं तुम्हारे पास ... :-)
सुप्रभात ....

Thursday, December 4, 2014

कम्बल की पोटली

पापा मेरे मस्त कलंदर
करके मुझको कम्बल के अंदर

जोर-जोर से मुझे हँसाते
ठंड को मुझसे दूर भगाते
 
लगा ठहाका हिला के अम्बर
हँसती खूब कम्बल के अंदर

ठंड को जब हम यूं डराते
हँसी के पल ये कैद हो जाते....
-मायरा

Wednesday, December 3, 2014

सात माह वाला बड्डे ....

११/११/२०१४

मायरा की मम्मी केक बनाएगी

केक बनाकर मायरा को खिलाएगी



मायरा के पापा मोबाईल लेके आएंगे 
फ़ुदकी मायरा के फोटो खींचे जाएंगे



मायरा पोज़ दे फोटो खिंचवाएगी
बिना एडिट नानी को भिजवाएगी 


नानी कुछ लिख सबको बताएगी

और सबके आशीष बटोर लाएगी


इस तरह फ़ुदकी -छुटकी मायरा 

सात माह वाला बड्डे मनाएगी