मेरे बड़े --

Saturday, November 22, 2014

मेरे ब्लॉग की पचासवीं पोस्ट-मेरी सेल्फ़ी

कब इतना वक्त बीत गया पता नहीं चला, आपने इतना प्यार दिया कि बीमार होने पर सुई से भी नहीं डरी.... जल्दी वापस जो आना था , अब ठीक हूँ, बस मस्ती कम नहीं हुई ....
सीढ़ी चढ़ ली कल फिर से .....दर असल टारगेट बनाया है "नानी को दुबला करना"
चंद दिनों में ही फर्क नज़र आएगा ....
.
.और जिस-जिस को दुबला होना हो ,मुझसे संपर्क कर दोस्ती कर सकते हैं.......
.
.
धूप खाने का अपना ही मजा है कल ही ये सेल्फ़ी ली....नानी को पोज़ देना सीखा रही थी तब ....और अभी पता चला ये मेरे ब्लॉग की पचासवीं पोस्ट हो गई .....

थैंक्यू अनूप नानू ......
नानी को ब्लॉग बनाने का सजेशन देने के लिए ......
.
.लव टू ऑल माय फैन्स .......

5 comments:

  1. हाफ सेंचुरी की बधाई, मायरा!

    ReplyDelete
  2. पचास वी पोस्ट के लिए बहुत बहुत बधाई |मायरा बहुत क्यूट लग रही है |

    ReplyDelete

बस! आपका आशीष बना रहे ...